अंतर्राष्ट्रीय

हम कौन हैं  
सवंता एक अत्यंत विशेषीकृत पर्यावरणीय परामर्श और प्रौद्योगिकी कंपनी है, जो मुख्यतः अमरीका के महाद्वीपों में काम करती है। अब हम भारतीय उपमहाद्वीप में भी अपनी सेवाओं का विस्तार कर रहे हैं। हम सरकारों, निगमों और ग़ैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के द्वारा सामना किए जानेवाले विविध मुद्दों को अच्छी तरह समझते हैं, और हमारा कार्य विवेकशील और स्थायी विकास को सक्षम बनाने की कोशिश करता है।

हम अपने ग्राहकों और स्थानीय परामर्शदाता साझेदारों के साथ व्यावहारिक और कार्यक्षम समाधान विकसित करने के लिए सामरिक तरीके से काम करते हैं। हम सहयोगात्मक संबंधों, एक ऐसे दृष्टिकोण और पद्धति को तरजीह देते हैं जो लोगों और उनकी प्राथमिकताओं के प्रति गहन सम्मान दर्शाने की हमारी अभिरुचि और कार्य-प्रणाली के साथ अच्छी तरह मेल खाता है। हम स्थानीय चुनौतियों के प्रति एक वैश्विक दृष्टिकोण लाते हैं, और इस जानकारी को राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और स्थानीय प्राथमिकताओं के साथ समन्वित करते हैं। एक सामरिक परामर्शदाता के रूप में हम अक्सर ग़ैर-परंपरागत रास्ते चुनते हैं जो अधिक कारगर और कार्यक्षम परिणामों की ओर ले जाते हैं। हमारी परियोजनाएँ शेल्फ़ में पड़ी-पड़ी धूल नहीं एकत्र करतीं, उन्हें व्यावहारिक रीति से क्रियान्वित किया जाता है

हम क्या करते हैं

हमारा काम सामरिक है जो बेहतर, अधिक टिकाऊ विकास साधने और संरक्षण को बढ़ावा देनेवाले परिणाम प्राप्त करने पर केंद्रित होता है। हम सार्वजनिक, निजी और ग़ैर-सरकारी ग्राहकों के साथ काम करते हैं, और भारत में निम्नलिखित व्यापक कार्यक्षेत्रों में परिणाम प्राप्त करते हैं:

  • सामरिक पर्यावरणीय परामर्श; और
  • पर्यावरणीय प्रौद्योगिकियाँ।

सामरिक पर्यावरणीय परामर्श

पर्यावरणीय परामर्श से जुड़े कई क्षेत्रों में, ऐसा लगता है, कि विश्व-स्तर पर एक सुस्ती-सी आ गई है। गुणवत्ता और पूर्णता के मानक एक अधिकार-क्षेत्र से दूसरे में भिन्न-भिन्न हैं। यह सुनिश्चित करके कि विकास के प्रयास, चाहे वे कहीं भी हों या किसी भी स्तर पर हों, पर्याप्त रूप से सुविचारित और अनुमानित पर्यावरणीय प्रभावों और संभावित लाभों की ओर ले जाते हैं,  हमारे सामरिक प्रयास इन मानकों के स्तर को अधिक ऊपर उठाते हैं। अक्सर परामर्शदाता होने की हमारी कुशलता का उपयोग करके निष्पक्ष समीक्षा करने के लिए हमें आमंत्रित किया जाता है। अन्य मामलों में हम निम्नलिखित कार्यों में संलग्न होने वाली टीमों का नेतृत्व करते हैं और उनमें भाग लेते हैं:

  • बड़े पैमाने के क्षेत्रीय और सामरिक मूल्यांकन;
  • व्यक्तिगत परियोजना मूल्यांकन;
  • सामरिक और संचयी प्रभाव मूल्यांकन; और
  • विकास के प्रभावों का मूल्यांकन

पर्यावरणीय प्रौद्योगिकियाँ और नवप्रवर्तन

सवंता ने कई प्रकार की पर्यावरणीय प्रौद्योगिकियाँ विकसित की हैं और उसे अन्य पर्यावरणीय प्रौद्योगिकियाँ सरलता से उपलब्ध हैं, और इन सबको वह विभिन्न परियोजना अनुप्रयोगों में मदद करने के लिए समग्र रूप से उपलब्ध करा सकता है। हमारी सेवाओं में शामिल हैं, प्रौद्योगिकी अभिकल्पन, व्यावहारिकता परीक्षण, प्रौद्योगिकी संस्थापन, और समर्थन। इस क्षेत्र की सेवाओं के विशिष्ट उदाहरणों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • सॉफ़्टवेयर और जियोमैटिक्स (भू-सर्वेक्षण) उपकरण विकास और अनुप्रयोग;
  • नमभूमि क्षेत्र मानचित्रांकन (डब्ल्यूएएम);
  • जैविक-विविधता मानचित्रांकन;
  • नमभूमि और जल परिष्करण प्रौद्योगिकियाँ; और
  • फाइटो-रेमेडिएशन (वानस्पतिक हस्तक्षेप से पर्यावरणीय संतुलन को पुनर्स्थापित करना) प्रौद्योगिकियाँ।

मसलन, हमारा नमभूमि क्षेत्र मानचित्रांकन (डब्ल्यूएएम) जियोमैटिक्स उपकरण, नमभूमियों, जल-धाराओं, बाढ़ से प्रभावित होने वाली ज़मीनों, तटीय क्षेत्रों और भूक्षरण और भूस्खलन के प्रति संवेदनशील क्षेत्रों के जोखिम वाले क्षेत्रों का विश्लेषण करता है और उन्हें प्रदर्शित करता है। यह अनेक सार्वजनिक और निजी परियोजनाओं के लिए एक लाभकारी उपकरण है, जिनमें शामिल हैं:

  • रेखीय कार्यस्थल (फ़ेसिलिटी) स्थापित करना और विकास (पाइपलाइन, रेल और सड़क मार्ग, जलीय गलियारे); और
  • परियोजना की स्थापना और अभिकल्पन अध्ययन (सामुदायिक विकास, पुनर्वास योजनाएँ, बिजलीघर, और अन्य औद्योगिक कार्यस्थल स्थापना (साइटिंग) परियोजनाएँ)।

डब्ल्यूएएम क्या है और वह आयोजन और विकास का समर्थन कैसे कर सकता है?

जब उसे भूमि उपयोग और विकास में लागू किया जाता है, डब्ल्यूएएम एक मानचित्रांकन/जियोमैटिक्स कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर उपकरण और प्रक्रिया है। वह:

  • जान-माल की हानि घटा सकता है;
  • वैकल्पिक परियोजना स्थानों और अधिसंरचना संरेखनों (एलाइनमेंट) की तुलना करने में योगदान कर सकता है;
  • पर्यावरणीय मूल्यांकन, सामरिक ईए (पर्यावरणीय मूल्यांकन) और भूमि उपयोग योजनाओं से संबंधित लागत को कम कर सकता है; और
  • अधिसंरचना विकास और अनुरक्षण की लागतें कम कर सकता है।

डब्ल्यूएएम नमभूमियों, जल-धाराओं और बाढ़ से प्रभावित होनेवाली ज़मीनों, तटीय क्षेत्रों और भूक्षरण और भूस्खलन के प्रति संवेदनशील क्षेत्रों के जोखिम वाले भागों का विश्लेषण करता है और उन्हें प्रदर्शित करता है। इस तरह, डब्ल्यूएएम अनेक सार्वजनिक और निजी परियोजनाओं के लिए एक अनिवार्य उपकरण है, जिनमें शामिल हैं:

  • रेखीय कार्यस्थल स्थापन और विकास: पाइपलाइन, रेल और सड़क मार्ग, जलीय गलियारे;
  • परियोजना स्थापन और अभिकल्पन अध्ययन: सामुदायिक विकास, पुनर्वास योजनाएँ, बिजलीघर, और अन्य औद्योगिक कार्यस्थल स्थापन परियोजनाएँ।

जब इसे भूगोल और परियोजना उद्देश्यों के अनुरूप बना लिया जाता है, डब्ल्यूएएम संसाधन विकास और प्रबंधन (उदा., खनन और वानिकी) के लिए सर्वोत्तम क्षेत्रों को बेहतर रूप से परिभाषित भी कर सकता है। इसे जैविक-विविधता की पहचान करने और उसका प्रबंधन करने वाले उपकरण के रूप में उपयोग किया जाता है, जो आंशिक रूप से जैविक-विविधता के स्थानीय सूचकों पर निर्भर करता है।
डब्ल्यूएएम और उससे संबंधित आयोजन उपकरण न्यू ब्रुन्सविक विश्वविद्यालय द्वारा सवंता इंक के सहयोग से विकसित किए गए सॉफ़्टवेयर पर आधारित है।
डब्ल्यूएएम सेवाएँ:

  • गलियारा संरेखन (कॉरिडॉर एलाइनमेंट) जोखिम मूल्यांकन और व्यावहारिकता अध्ययन (उदा., सड़क, रेल, गैस या तेल पाइपलाइन)
  • जलग्रहण-क्षेत्र और तटीय क्षेत्र आयोजन और विकास समर्थन
  • नमभूमि सीमा की परिभाषा और पुनरुद्धार संभावना की पहचान
  • भू-स्खलन संभाव्यता, बाढ़-ग्रस्तता, और तूफ़ान की चपेट में आ जाने से संबंधित जोखिमों का आकलन।